राज्य

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल लोक माटी शिल्प हाट पहुंचे, स्व-सहायता समूहों से खरीदे मिट्टी और गोबर के दीये
  • October 31, 2021
  • दीपदान उत्सव में निर्धन परिवारों को मिष्ठान, दीये और पूजन सामग्री भेंट कर सभी को दी दीवाली की शुभकामनाएं
  • मुख्यमंत्री ने मिलेट्स उत्पादों और गोधन से आय अर्जित कर रही महिलाओं की परिश्रम को सराहा

 मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल आज बूढ़ा तालाब-विवेकानंद सरोवर में आज से शुरू हुए छत्तीसगढ़ लोक माटी शिल्प हाट पहुंचे, जहां उन्होंने स्व-सहायता समूह द्वारा निर्मित मिलेट्स खाद्य उत्पादों, गोधन न्याय योजना से जुड़ी महिलाओं द्वारा निर्मित दीये, गमले, वर्मी कम्पोस्ट खाद निर्माण कर स्वावलंबन से जुड़कर आय अर्जित कर रही महिलाओं से मिलें एवं उनसे दीवाली के दीये एवं पूजन सामग्री खरीदी। इस अवसर पर श्री बघेल ने दीपदान उत्सव का शुभारंभ कर निम्न आय वर्ग के परिवारों को स्थानीय कुम्हारों, स्व-सहायता समूहों द्वारा निर्मित दीये और पूजन सामग्री सहित मिष्ठान भेंट कर दीवाली की शुभकामनाएं दी। इस अवसर पर नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ. शिव कुमार डहरिया, महापौर श्री एजाज़ ढेबर, संसदीय सचिव श्री विकास उपाध्याय, छ.ग. गृह निर्माण मंडल के अध्यक्ष श्री कुलदीप जुनेजा, विधायक श्रीमती अनिता योगेन्द्र शर्मा, कलेक्टर श्री सौरभ कुमार, पुलिस अधीक्षक श्री प्रशांत अग्रवाल, नगर निगम कमिश्नर श्री प्रभात मलिक, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री मयंक चतुर्वेदी सहित स्थानीय जन प्रतिनिधि भी साथ थें।
          लोक माटी शिल्प हाट पहुंचे मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल नगर पालिक निगम रायपुर और शहरी आजीविका मिशन से संबद्ध शैली स्व-सहायता समूह की मिलेट्स फूड सामग्री तैयार कर इसके विक्रय से जुड़ी महिलाओं से मिलें एवं उनके आय एवं इस कार्य के संबंध में उनके अनुभव की जानकारी लीं। समूह की अध्यक्ष श्रीमती विनीता पाठक ने बताया कि समूह में 10 महिलाएं जुड़ी हुई हैं, जो बाजरे और रागी की बर्फी, लड्डू, कुकीज़, खुरमी, मशरूम सेव सहित 14 उत्पाद तैयार कर विक्रय कर रही हैं। उन्होंने यह भी बताया कि घर पर रहकर अब महिलाएं स्वरोजगार से जुड़कर आय अर्जित कर रही हैं, साथ ही कोरोना काल में भी अपने उत्पादों का विक्रय कर 10 से 15 हजार प्रति माह की आमदनी अर्जित कर अब अपने व्यवसाय को और आगे बढ़ा रही है। 

            मुख्यमंत्री श्री बघेल उन स्व-सहायता समूहों से भी मिलें, जो गोधन न्याय योजना अंतर्गत विभिन्न उत्पादों के विक्रय से सालाना 5 लाख से भी अधिक राशि की आय अर्जित कर रहीं हैं। समूह से जुड़ी महिलाओं ने बताया कि शहर में संचालित विभिन्न गौठानों से जुड़कर महिलाओं ने आय के नए स्त्रोत तैयार किए है। विभिन्न समूहों से जुड़कर महिलाएं वर्मी कम्पोस्ट, सुपर वर्मी कम्पोस्ट, गोबर का  गमला, गोबर की ईंट, गोबर के चप्पल, दीये, मूर्ति व शुभ-लाभ, जैसी सामग्रियां तैयार करती हैं। इन सामग्रियों की बाजार में हमेशा मांग होने के कारण महिलाएं सालाना लगभग 5 लाख तक की आमदनी प्राप्त कर रही हैं। इसके अलावा स्वावलंबन से जुड़े इन समूहों द्वारा मछली पालन व बाड़ी में फसल की पैदावार कर अतिरिक्त आमदनी भी अर्जित की जा रही है। इन महिलाओं ने बताया कि गोबर की लकड़ी, कंडे, गमले एवं दीये, गौ काष्ठ इन दिनों विशेष तौर पर तैयार किए जा रहे हैं। स्व-सहायता समूह की महिलाएं छत्तीसगढ़ में विशेष रूप से पसंद किए जाने वाले बड़ी, पापड़, मिर्ची आदि तैयार कर इसके विक्रय से जुड़ी हुई हैं, समूह की हर महिला परंपरागत घरेलू सजावट की सामग्री का विक्रय कर लगभग 10 हजार रुपये प्रति माह की आय भी अर्जित कर रही हैं। इस अवसर पर मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने आकाश दीप उड़ाकर दीवाली की खुशहाली का संदेश दिया। 

           छत्तीसगढ़ राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन (बिहान), जिला पंचायत, रायपुर अंतर्गत वैष्णवी स्व-सहायता समूह सारागांव से जुड़ी 13 महिलाएं स्वावलंबन से जुड़कर कैंडल, बॉडी लोशन, साबुन, फिनाइल, हैंड वॉश जैसी सामग्रियां तैयार कर आमदनी अर्जित कर रही हैं। समूह की अध्यक्ष सुनीता साहू ने मुख्यमंत्री श्री बघेल से चर्चा के दौरान बताया कि अपने समूह की आमदनी बढ़ाने के लिए उन्होंने बिहान योजना से 60 हजार रुपये लोन लेकर सामग्रियों की विविधता को बढ़ाया है। अब उनके पास अलग-अलग 15 प्रकार की सामग्रियां हैं। पहले की अपेक्षा अब उन्हें ज्यादा आमदनी अर्जित होगी। महिला स्व-सहायता समूह द्वारा झूमर, साबुन, खिलौने सहित सजावटी सामान बनाये जाते हैं। साथ ही उजाला ग्राम संगठन, सेरीखेड़ी स्व-सहायता समूह की महिलाएं विशेष तरह के साबुन, सेनेटरी नैपकिन तैयार की हैं, जिनका मूल्य बाजार में उपलब्ध उत्पादों की अपेक्षा कम हैं। गोधन न्याय योजना के अंतर्गत गौठान से जुड़कर गोबर के दीये, स्वास्तिक, ओम, श्री, शुभ-लाभ, गमला, वर्मी कम्पोस्ट, घन जीवामृत दवाई, जीव अमृत दवाई सहित पुदीना का अर्क, लेमन ग्रास, सेंट्रो नीला जैसी सामग्रियां तैयार कर आमदनी अर्जित कर रही हैं। 

          हाट के भ्रमण के दौरान मुख्यमंत्री श्री बघेल हाथ व चाक से दीये बना रही महिलाओं की कारीगरी भी देखी एवं उनके हुनर की तारीफ़ की। श्री बघेल छŸाीसगढ़ की गोदना कला से भी अत्यधिक प्रभावित होकर महिलाओं को शाबासी दी। रायपुर स्मार्ट सिटी लिमि. एवं नगर पालिक निगम, रायपुर द्वारा संचालित दीपदान उत्सव के अंतर्गत निर्धन परिवारों को दीप व मिष्ठान भेंट कर उन्हें दीवाली की शुभकामनाएं दीं। इस दौरान सभापति श्री प्रमोद दुबे, एम.आई.सी. सदस्य श्री नागभूषण राव, श्री सुंदर जोगी, श्री जितेन्द्र अग्रवाल, श्री अनवर हुसैन सहित नगर निगम के पार्षद एवं जन प्रतिनिधिगण भी इस मौके पर उपस्थित थे।

Subscribe

Contact No.

+91-9770185214

Email

cleanarticle@gmail.com

Location

Prem Nagar Indra Bhata, H.no-509, Vidhan Sabha Road, Near Mowa Over Bridge, Raipur, Chattisgarh - 492007

Visitors

8920