राज्य

मुख्यमंत्री ने छिंदगढ़ अंचल को दी कई सौगातें
  • May 18, 2022
  • तोंगपाल को पूर्ण तहसील का दर्जा देने की घोषणा
  • तालनार तथा किकिरपाल हाई स्कूल का होगा हायर सेकेण्डरी स्कूल में उन्नयन
  • कुकानार में बनेगा विद्युत सब-स्टेशन
  • कांजीपानी, गंजेनार और गुम्मा में हाई स्कूल की स्वीकृति
  • छिंदगढ़ में 50 बिस्तर अस्पताल की घोषणा
  • मुसरिया माता मंदिर के जीर्णाेद्धार के लिए 20 लाख रूपए की मंजूरी

मुख्यमंत्री श्री बघेल ने आज सुकमा जिले के छिंदगढ़ में भेंट-मुलाकात कार्यक्रम के दौरान जनआकांक्षाओं के अनुरूप कई सौगातें दी। भेंट-मुलाकात का यह कार्यक्रम छिंदगढ़ में आम के बागीचे में आयोजित हुआ, जहां मुख्यमंत्री अपने सहज और सरल अंदाज में हजारों की संख्या में उपस्थित ग्रामीणों सीधे रूबरू हुए। मुख्यमंत्री ने लोगों से शासकीय योजनाओं एवं कार्यक्रमों की लाभ के बारे में जानकारी लेने के साथ ही उनकी समस्याओं को बड़ी गंभीरता से सुना। मुख्यमंत्री ने कहा कि मैं यहां आप सब से मिलने आया हूं। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार सुदूर वनांचल क्षेत्रों के विकास और लोगों की बेहतरी के लिए पूरी संवेदनशीलता के साथ काम कर रही है। दूरस्थ अंचलों में शिक्षा, स्वास्थ्य, आवागमन, विद्युत जैसी मूलभूत सुविधाओं के विकास, रोजगार के अवसरों के सृजन और स्वावलंबन के जरिए लोगों के जीवन में बदलाव लाने का प्रयास किया जा रहा है। 

मुख्यमंत्री ने इस मौके पर स्थानीय जनप्रतिनिधियों और ग्रामीणों की मांग पर तोंगपाल को पूर्ण तहसील का दर्जा, तालनार तथा किकिरपाल हाई स्कूल का होगा हायर सेकेण्डरी स्कूल में उन्नयन, कुकानार में बनेगा विद्युत सब-स्टेशन, कांजीपानी, गंजेनार और गुम्मा में हाई स्कूल की स्वीकृति, छिंदगढ़ में 50 बिस्तर अस्पताल की घोषणा और मुसरिया माता मंदिर के जीर्णाेद्धार के लिए 20 लाख रूपए स्वीकृत किए जाने की घोषणा की। इस अवसर पर उद्योग मंत्री श्री कवासी लखमा, सांसद श्री दीपक बैज, जिला पंचायत अध्यक्ष श्री हरीश कवासी लखमा एवं अन्य जनप्रतिनिधि मुख्य सचिव श्री अमिताभ जैन, मुख्यमंत्री के सचिव श्री सिद्धार्थ कोमल सिंह परदेशी सहित सभी विभागों के अधिकारी एवं बड़ी संख्या में ग्रामीणजन उपस्थित थे। मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम में हितग्राहियों को वन भूमि अधिकार मान्यता प्रमाण पत्र वितरित करने के साथ ही उन्हें बधाई और शुभकामनाएं दी। 

मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि जिला मुख्यालयों के साथ-साथ अब ब्लाक, तहसील में भी स्वामी आत्मानन्द अंग्रेजी माध्यम स्कूल प्रारंभ किए गए हैं, ताकि हमारे गांवों के बच्चों को अंग्रेजी माध्यम में निःशुल्क शिक्षा मिल सके। स्वामी आत्मानंद स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों को इंग्लिश में बातचीत करते सुनकर सुखद अनुभूति होती है। उन्होंने कहा कि सुकमा जिले के बेटियां मेरिट में स्थान बना रही है। पिछले साल दन्तेवाड़ा की बेटी आईएएस बनी, अब और बच्चे चयनित हो रहे हैं।
 
मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि गौठान और गोधन न्याय योजना के समन्वय से गांवों में रोजगार के अवसर सृजित हुए हैं। इससे जुड़कर ग्रामीण अब आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर होने लगे हैं। उन्होंने कहा कि गाँव वाले अपने गौठान में बिजली बनाकर बेचेंगे, यह संकेत है हमारा छत्तीसगढ़ तेजी से आगे बढ़ रहा है। उन्होंने कहा कि बीते दो सालों में हमने राजीव गांधी किसान न्याय योजना के तहत राज्य के किसानों को 12290 करोड़ रूपए की राशि दी है। इस साल राजीव गांधी न्याय योजना की पहली किश्त की राशि 1700 करोड़ रूपए का वितरण 21 मई को फिर से किसानों को करेंगे। 

भंेट-मुलाकात कार्यक्रम में मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल को ग्रामीणों ने छत्तीसगढ़ सरकार की सुराजी गांव योजना नरवा, गरूवा, घुरूवा, बाड़ी विकास कार्यक्रम की शुरूआत के लिए धन्यवाद दिया और कहा कि इनके संरक्षण और संवर्धन से ग्रामीण अंचलों में सकारात्मक बदलाव दिखने लगा है। मुख्यमंत्री ने इस मौके पर नेत्रहीन मड़ियम मुक्का के आंखों का इलाज रायपुर में कराए जाने के निर्देश अधिकारियों को दिए।

Contact No.

+91-9770185214

Email

cleanarticle@gmail.com

Location

Prem Nagar Indra Bhata, H.no-509, Vidhan Sabha Road, Near Mowa Over Bridge, Raipur, Chattisgarh - 492007