धार्मिक

कब रखा जाएगा हरतालिका तीज का व्रत, जानें पूजा विधि और महत्व
  • August 25, 2022


सुहाग की लंबी आयु के लिए रखा जाने वाला हरतालिका तीज व्रत (Hartalika Teej Vrat) कब रखा जाएगा और क्या है इसकी पूजा विधि और धार्मिक महत्व, जानने के लिए जरूर पढ़ें ये लेख.


सनातन परंपरा में भाद्रपद माह के शुक्ल पक्ष की तृतीया काे रखे जाने वाले हरितालिका व्रत बहुत ज्यादा महत्व हैयह व्रत कुंवारी कन्याओं द्वारा सुयोग्य वर पाने और विवाहित महिलाओं द्वारा सुखी दांपत्य जीवन और अपने सुहाग की लंबी आयु की कामना के लिए किया जाता हैइस साल हरतालिका तीज का व्रत 30 अगस्त 2022, मंगलवार को बनाया जाएगाइस व्रत में महिलाएं भगवान शिवऔर माता पार्वती की मिट्टी या रेत से बनाई जाने वाली मूर्ति की विधिविधान से पूजा और व्रत करती हैंआइए हरतालिका तीज व्रत की पूजा विधिशुभ मुहूर्त और इसका धार्मिक महत्व विसतार से जानते हैं.

हरतालिका तीज व्रत का शुभ मुहूर्त

पंचांग के अनुसार इस साल भाद्रपद मास के शुक्लपक्ष में पड़ने वाली पावन तृतीया तिथि 29 अगस्त 2022, सोमवार को दोपहर 03:20 बजे से प्रारंभ होकर 30 अगस्त 2022, मंगलवार को दोपहर 03:33 बजे तक रहेगा. हरतालिका तीज का का व्रत उदया तिथि में 30 अगस्त 2022 को रखा जाएगा और इस दिन पूजा का शुभ मुहूत प्रात:काल 05:58 से लेकर 08:31 बजे तक रहेगा.

हरतालिका तीज व्रत की पूजा विधि

भगवान शिव और माता पार्वती की कृपा बरसाने वाले हरतालिका तीज व्रत की पूजा प्रदोष काल में अत्यधिक शुभ एवं फलदायी मानी गई हैऐसे में इस दिन स्नान करने के बाद चौकी पर एक स्वच्छ लाल रंग का कपड़ा बिछाकर माता पार्वती और महादेव की मिट्टी की प्रतिमा को केले के पत्ते पर रखेंइसके बाद एक कलश के ऊपर नारियल रखकर सबसे पहले उसकी पूजा करेंइसके बाद माता भगवान शिव और माता गौरी कुमकुमअक्षतचावलपुष्पफलमिष्ठान आदि चढ़ाकर विधिवत पूजन करेंपूजा के दौरान मां पार्वती को श्रृंगार की सभी चीजें चढ़ाएं और हरतालिका व्रत की कथा पढ़ें या फिर सुनेंपूजा के अंत में भगवान शिव और माता पार्वती की आरती करें.


हरतालिका व्रत से जुड़े नियम एवं उपाय

  1. हरतालिका व्रत का नियम है कि इसे एक बार प्रारंभ करने के बाद छोड़ा नहीं जा सकता है और जब तक सामर्थ्य हो तब तक इसे हर साल विधिविधान से करना होता है.
  2. हरतालिका तीज के व्रत में सुहाग की लंबी आयु और सुखी वैवाहिक जीवन की कामना को पूरा करने के लिए 11 नई शादीशुदा महिलाओं को 16 श्रृंगार से जुड़ी सभी सामग्री भेंट करें.
  3. सुखी वैवाहिक जीवन की कामना को पूरा करने के लिए हरतालिका तीज पर माता पार्वती को खीर का भोग अवश्य लगाएं.

(यहां दी गई जानकारियां धार्मिक आस्था और लोक मान्यताओं पर आधारित हैंइसका कोई भी वैज्ञानिक प्रमाण नहीं हैइसे सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर यहां प्रस्तुत किया गया है.)

Contact No.

+91-9770185214

Email

cleanarticle@gmail.com

Location

Prem Nagar Indra Bhata, H.no-509, Vidhan Sabha Road, Near Mowa Over Bridge, Raipur, Chattisgarh - 492007